उत्पाद जानकारी पर जाएं
1 का 2

विदारीकंद पाउडर (100 ग्राम)

विदारीकंद पाउडर (100 ग्राम)

नियमित रूप से मूल्य Rs. 100.00
नियमित रूप से मूल्य विक्रय कीमत Rs. 100.00
बिक्री बिक गया
शिपिंग की गणना चेकआउट के समय की जाती है।
FSSAI_logo.png
Lic. No. MP/25D/20/789

Country of Origin

fssai
INDIA

'विधारि' का संबंध 'विधारा' से है, जिसका अर्थ है सहन करना या समर्थन करना, और 'कंद' का अर्थ है जड़।
जीवन शक्ति और सहनशक्ति की तरह!

विदारीकंद एक प्रतिष्ठित आयुर्वेदिक जड़ी-बूटी है जो अपने पुनर्जीवन गुणों के लिए जानी जाती है। यह ऊर्जा के स्तर को बढ़ाने, सहनशक्ति में सुधार और समग्र स्वास्थ्य को बढ़ावा देने में सहायता करता है। यह जड़ी-बूटी शरीर की प्रणालियों में सामंजस्य स्थापित करने और बेहतर स्वास्थ्य में योगदान देने में अद्भुत काम करती है। इसके नियमित सेवन से प्रतिरक्षा प्रणाली मजबूत हो सकती है और जीवन शक्ति में सुधार हो सकता है। विधारी कांड स्वास्थ्य लाभों का खजाना है।

अन्य समग्र लाभ:

✅ एडाप्टोजेनिक गुण तनाव को प्रबंधित करने और सहनशक्ति को बढ़ाने में मदद करते हैं
✅ एंटीऑक्सीडेंट गुण ऑक्सीडेटिव तनाव से लड़कर सेलुलर स्वास्थ्य में योगदान करते हैं
✅ सूजनरोधी प्रभाव शारीरिक सूजन को कम करने में सहायता करते हैं
✅ स्वस्थ पाचन का समर्थन करता है और पोषक तत्वों के इष्टतम अवशोषण में सहायता करता है
✅मांसपेशियों की ताकत और रिकवरी को बढ़ावा देता है, जिससे यह एथलीटों के लिए आदर्श बन जाता है
✅ नींद की गुणवत्ता बढ़ाता है और नींद संबंधी विकारों के प्रबंधन में मदद करता है
✅ श्वसन स्वास्थ्य का समर्थन करता है और सांस संबंधी समस्याओं में सहायता करता है।

अंतरंग लाभ:

💖प्रजनन स्वास्थ्य और शक्ति में सुधार करता है
💖पुरुषों और महिलाओं दोनों में स्वस्थ हार्मोनल संतुलन का समर्थन करता है
💖 कामेच्छा और यौन स्वास्थ्य को बढ़ाता है
💖प्रजनन क्षमता बढ़ाने में योगदान देता है और स्वस्थ गर्भाधान का समर्थन करता है

विदारीकंद जीवन शक्ति बढ़ाने, यौन स्वास्थ्य का समर्थन करने और समग्र शारीरिक और मानसिक कल्याण को बढ़ावा देने की क्षमता के साथ एक उल्लेखनीय जड़ी बूटी के रूप में सामने आती है।

पूरी जानकारी देखें
  • 100% Natural

    Only the purest natural ingredients.

  • Zero Side Effects

    Safe remedies without adverse effects.

  • Ancient Wisdom

    Time-honored Ayurvedic principles.

  • Locally Sourced

    Prioritizing community and sustainability.