Become an Affiliate Click Here To Register

Alpha Germs Killer - Anti-bacterial Hand Gel

30 ml Pocket Hand Sanitizer
Price: 125.00 100.00
+ Free Delivery
  • 100% Pure ayurveda

In Stock

Buy From Amazon

सेनिटाइज़र क्या है?


 

मित्रों आज का सबसे चर्चित विषय सेनिटाइज़र है. प्रत्येक व्यक्ति अपने आप को सेनिटाइज़ करके महामारी के कोप से बचाना चाहता है. साथ ही उसकी ये भी ज़रूरत है कि उसका मकान, दूकान और फैक्ट्री पूरी तरह से सेनिटाइज़ रहे जिससे कि वह स्वयं, उसके कर्मचारी और आने वाले ग्राहक भी महामारी से सुरक्षित रहें. सबसे पहले जानना होगा कि कब और कहाँ सेनिटाइज़ करने की ज़रूरत है.

  1. हाथों को सुरक्षित रखना (Hand Sanitization) – सेनिटाइज़ करने की प्रथम पायदान हाथों को सेनिटाइज़ करना है. इसे हैण्ड ज़ेल (Hand Gel) या हैण्ड सेनिटाइज़र (Hand Sanitizer) के माध्यम से किया जाता है. एक अच्छी हैण्ड ज़ेल में निम्न अवयव ज़रुरी हैं – IP Grade IPA and Glycerin, Organic Essential Oils, Bio-Gelling Agent, Bio-Oil Perfume, Bio-Color, Natural Masking Agent, Deionized Water etc.
    हाथों को सेनिटाइज़ करने के लिए उपरोक्त मिश्रण से बना हुआ उत्पाद ही अच्छा रहता है. बाज़ार हल्की गुणवत्ता के सस्ते सेनिटाइज़र से भरा पड़ा हैं. उनकी शीशी पर छपे लेबल को पढने और जाँचने पर पता चलता है कि उनमे मिश्रित अवयव के नाम पर IPA, Ethyl Alcohol, Color और गंध के लिए मेंथोल मिला दिया जाता है. ये सस्ते सेनिटाइज़र हाथों पर लगाना मतलब ज़हर चोपड़ना है क्योंकि – १. दिन में ३ – ४ बार लगाने के बाद हाथों में सफेदी आने लगती है. २. हाथ कड़क होने लगते हैं और बार-बार हाथ धोने की ज़रूरत महसूस होती है. ३. सिर्फ अल्कोहोल हाथ में लगाने पर चमड़ी के अन्दर की तरफ मौजूद जीवाणुरोधी परत (बेक्टेरिया प्रोटेक्टिव लेयर) टूट जाती है. इससे अल्कोहोल अन्दर जाकर Lymphatic System (https://en.wikipedia.org/wiki/Lymphatic_system) को चोट पहुँचाता है. ये Lymphatic System हमारे शरीर की प्रतिरोधी क्षमता (Immunity) को बनाए रखता है. सस्ते सेनिटाइज़र प्रयोग में लाने के चक्कर में हम उल्टा मौत को निमंत्रित करते हैं. हाथों को सेनिटाइज़ करने के लिए हैण्ड ज़ेल (Hand Gel) सही है. (इसकी विस्तृत जानकारी www.alphaarogya.com पर उपलब्ध है).

  2. शरीर को सेनिटाइज़ करना - सेनिटाइज़ करने की दूसरी पायदान में पूरे शरीर को सेनिटाइज़ करना है. इसे अल्फा - आर्गेनिक डिस-इन्फेक्टेंट (Alpha - Organic Disinfectant) के माध्यम से किया जाता है. एक अच्छे आर्गेनिक डिसइन्फेक्टेंट में Organic Essential Oils in its purest form बेहद ज़रुरी हैं. इसका प्रयोग करने से चमड़ी पर कोई विपरीत प्रभाव नहीं पड़ना चाहिए. गलती से मुँह के अन्दर चले जाने पर कोई दुष्प्रभाव नहीं होना चाहिए.
    लगभग ३० ml आर्गेनिक डिसइन्फेक्टेंट को १ लीटर पानी में मिलाकर स्प्रे पंप (नाई का पंप) के माध्यम से व्यक्ति के शरीर पर ऊपर से नीचे और आगे-पीछे दोनों तरफ स्प्रे कर दिया जाता है. हाथों में भी स्प्रे करके उसे चेहरे पर लगा लिया जाता है. साथ लाए सामान को भी इसी के माध्यम से स्प्रे करके करके डिसइन्फेक्ट किया जाता है. इस पूरी प्रक्रिया में काफी हद तक व्यक्ति हानिकारक कीटाणु से मुक्त हो जाता है. सभी मकान, दूकान और फैक्ट्री इसी प्रकार से सेनिटाइज़ करके व्यक्ति स्वयं, उसके मजदूर, कर्मचारी और आने वाले ग्राहक भी महामारी से सुरक्षित रह सकते है. (इसकी विस्तृत जानकारी www.alphaarogya.com पर उपलब्ध है.)

  3. कार्यस्थल को सेनिटाइज़ करना - सेनिटाइज़ करने की तीसरी पायदान मै जगहों को सेनिटाइज़ करना है. इसमें मकान – दूकान, कार्यालय, फैक्ट्री, बस – कार, ट्रेन के डिब्बे इत्यादि सेनिटाइज़ करना है. इसमें पानी के साथ कुछ मात्रा में IPA, Ethyl Alcohol, Sodium Hypochlorite मिलाकर कीटनाशक का छिड़काव करने वाले बड़े पंप के माध्यम से स्प्रे किया जाता है. छिड़काव के समय ये मिश्रण व्यक्ति के शरीर के संपर्क में बिलकुल भी नहीं आना चाहिए अन्यथा उसे चमड़ी का रोग हो सकता है | कार्यस्थल को हानिकारक कीटाणु रहित बनाए रखने के लिए इसका नियमित छिड़काव (सप्ताह में दो बार) ज़रूरी है |

 

What Is Sanitizer?


 

The most popular topic today is ‘Sanitizer’. Everyone wants to protect themselves from the global pandemic by sanitizing themselves. At the same time, one also needs that their house, office/shop and factory should be completely sanitized so that everyone is safe from the epidemic. The first thing to know is what, when and where you need to sanitize.

  1. Hand Sanitization – The first place to sanitize are your hands, which is done using an anti-bacterial hand gel/hand sanitizer. The most important contents of a good hand gel are - IP Grade IPA and Glycerine, Organic Essential Oils, Bio-Gelling Agent, Bio-Oil Perfume, Bio-Color, Natural Masking Agent, Deionized Water etc.
    With the sudden increase in demand, market is flooding with cheap quality hand sanitizers. If you check the labels closely, you will find that IPA, Ethyl Alcohol, and menthol are being used. Applying this cheap sanitizer on hand means poisoning yourself because – 1. Hands start turning white if used 3-4 times a day; 2. Hands begin to crack and you feel the need to wash hands frequently; 3. Due to the use of alcohol alone, antibacterial layer on the foreskin of hands start breaking down. This cheap alcohol enters are body and starts attacking our Lymphatic system (https://en.wikipedia.org/wiki/Lymphatic_system) The lymphatic system plays a major role in the body's immune system. Therefore, it is recommended that one only uses a hand gel that contains the right grade alcohol and other mentioned contents. (For more information, visit www.alphaarogya.com).

  2. Body Sanitization - The second step of sanitizing is to sanitize the whole body. This can be done by our product, Alpha - Organic Disinfectant (Alpha ODI). Using 100% organic essential oils is a must in a body sanitizer. Otherwise, it could have an adverse effect on the skin. It could also be harmful if ingested mistakenly. 10 ml of Alpha Organic Disinfectant is mixed with 1 litre water and sprayed from top to bottom and front and back on the person's body through a spray pump. It is also sprayed on the hands and applied on the face. The goods brought from outside are also sprayed and disinfected through this. In this whole process, the person gets rid of harmful germs to a great extent. By sanitizing your house, office, shops and factories this way, you can keep yourself and people around you protected from the epidemic. (For more information, visit www.alphaarogya.com)

  3. Workplace Sanitization - The third place to sanitize is to sanitize your surroundings - home, office, shop, factory, vehicles, etc. this is usually done by mixing a small amount of IPA, Ethyl Alcohol or Sodium Hypochlorite with water and sprayed through a large pump. This solution should not come in contact with the person's body otherwise there might be adverse effects of the chemicals on skin. Regular spraying (twice a week) is necessary to keep the areas sanitized.

Specifications Of Alpha GK (Hand Gel) Manufactured By Alpha Arogya India Pvt. Limited


 

Certifications :


ISO 9001:2015 QMS - Quality Management System
ISO 13485:2012 MDQMS - Medical Devices Quality Management System
ISO 45001:2018   OHSMS - Occupational Health & Safety Management System

We are a leading manufacturer of Anti-bacterial Hand Gel and Sanitizers in the brand name of Alpha GK – (Alpha Germs Killer). It is a powerful germ-killing formulae enriched with essential oils. It leaves hands feeling clean and virtually germ-free.

Alpha GK is available in ten fragrances:
French Lavender, Baby Blue Eyes, Ocean, Fresh Water & Aloe, Sparkling Limón cello, Mango Mai Tai, Sweet as Strawberries, Rose Water & Ivy, Warm Vanilla Sugar, Sensual Jasmine

Product Features

  • Squeeze a pea-sized amount in your palm, gently rub the palm-side and back of the hands together, fingernail ridges until dry
  • The best On-the-go protection
  • Anti-fungal, Anti-bacterial and Anti-viral
  • Rinse Free, Non-Sticky and Non-drying
  • Moisturizing and hydrating quality
  • Has mild fragrance that stays for long
  • Instant Hand Sanitizer kills 99.99% of germs

 

Active and Inactive Ingredients
IPA IP 70% v/v
Glycerin IP, Organic Essential Oils, Bio-Gelling Agent, Bio-Oil Perfume, Bio-Color, Natural Masking Agent, Deionized Water etc.

Purpose - Reduces bacteria on the skin

Direction - Squeeze a pea-sized amount in your palm, gently rub the palm-side and back of the hands together, fingernail ridges until dry. Children under 6 years of age should be supervised when using this product.

Warnings - Flammable Keep away from fire or flame. For external use only

OTC - When using this product do not use in or near the eyes. In case of contact, rinse eyes thoroughly with water. Stop use and ask a doctor if irritation or rash appears and lasts. Keep out of reach of children.