Become an Affiliate Click Here To Register

Alpha 32 - Dant Sanjeevani

Herbal Tooth Powder(50 gm)
Price: 100.00
+ Free Delivery
(up to purchasing minimum order of ₹ 500/-)
  • 100% Pure ayurveda

Alpha 32: Herbal Tooth Powder for healthy gums

Your smile is even more beautiful when you take care of your teeth. Alpha 32 is the best Ayurvedic tooth powder which makes your teeth strong and help to keep them healthy as it contains anti-microbial ingredients.

Features of Alpha 32, Herbal Tooth Powder

This ayurvedic dental powder contains herbs and spices that protect your teeth and provide the best oral health like:

  1. Vajradanti – It is used in Ayurveda to treat toothache and to treat swelling in salivary glands.

  2. Peppermint – It is effectively used to maintain oral health, reduce plaque and bad breath, keep the teeth and gum clean, it fights oral pathogens and killing bacteria, etc.

  3. Cloves – It has anti-bacterial, anti-inflammatory, antioxidant properties that is effective in treating toothache.

  4. Ajwain or carom seeds – It is a good herb for toothache as it has anti-microbial properties.

  5. Cardamom – It is effective in fighting bacteria that cause dental caries.

Benefits of Alpha 32, Ayurvedic Tooth Powder:

  1. Protects against building of dental caries or cavity, plaque, bacteria, bad breath, tooth decay, etc.

  2. Reduces plaque build-up, oral bacteria, bad breath, cavity, tooth decay or infection upon regular use.

  3. Prevents periodontal or gum diseases, gingivitis, etc.

  4. Gives a long-lasting freshness, clean the tongue and pleasant feeling in the mouth.

  5. It is an Ayurvedic medicine for healthy gums, meaning it makes the gums strong and prevents bleeding in the gums.

  6. It prevents mouth ulcers or sores.

  7. It removes bad breath and keeps the mouth fresh, especially after eating pungent and strong-flavoured foods like onion, garlic etc.

  8. It is an Ayurvedic teeth whitening powder that keeps the teeth white naturally by strengthening enamel and teeth, does not let the teeth turn yellow and prevents any discolouration.

  9. It is effective when used twice a day.

  10. It also helps to make sensitive strong, especially people with sensitive teeth must use it. So, next time you drink or eat anything hot or cold, you can enjoy the food and not feel any pain.

  11. It is fluoride-free, triclosan-free and (Sodium Lauryl Sulfate) SLS-free and is safe to use.

Method to Use:

It is the world's first dentist in liquid form. Just like the tooth paste you are currently using; Just like that, apply it on the tooth brush. After that add only one drop of Alpha Battisi (Alpha-32). After a few days, keep reducing the amount of tooth paste and instead of one, put two or three drops of Alpha Battisi(Alpha-32). Before brushing the teeth, rinse and clean the mouth from inside. Brush slowly and only for 30 to 45 seconds. After that rinse four or five times. Do not leave any kind of tingling in the mouth.

To keep your teeth strong and safe for a long time, use Alpha Battisi (Alpha-32) both in the morning and in the evening.

Alpha 32 is a gift of nature for your oral and dental care. It is easy to use and can be used along with or without your existing toothpaste. Available for purchase online on Alpha Arogya website and the Amazon shopping portal. Your overall experience will be great, as you will feel freshness in your mouth and also help you keep strong teeth. 

 

अल्फा-32 (Alpha-32): स्वस्थ मसूड़ों के लिए हर्बल दंत मंजन

जब आप अपने दांतों की देखभाल करते हैं तो आपकी मुस्कान और भी खूबसूरत होती है। अल्फा 32 सबसे अच्छा आयुर्वेदिक हर्बल टूथ पाउडर है जो आपके दांतों को मजबूत बनाता है और उन्हें स्वस्थ रखने में मदद करता है क्योंकि इसमें एंटी-माइक्रोबियल तत्व होते हैं।

अल्फा-32 (Alpha-32), हर्बल टूथ पाउडर की विशेषताएं

इस आयुर्वेदिक डेंटल पाउडर में जड़ी-बूटियाँ और मसाले होते हैं जो आपके दांतों की रक्षा करते हैं और सर्वोत्तम दन्त स्वास्थ्य प्रदान करते हैं:

  1. वज्रदंती (Vajradanti) - इसका उपयोग आयुर्वेद में दांत दर्द का इलाज करने और लार ग्रंथियों में सूजन के इलाज के लिए किया जाता है।

  2. पुदीना (Peppermint) - यह प्रभावी रूप से दन्त स्वास्थ्य को बनाए रखने, पट्टिका और सांस की बदबू को कम करने, दांतों और मसूड़ों को साफ रखने के लिए उपयोग किया जाता है। यह मौखिक रोगाणु और बैक्टीरिया को मारने, आदि से लड़ता है।

  3. लौंग (Cloves) - इसमें एंटी-बैक्टीरियल, एंटी-इंफ्लेमेटरी, एंटीऑक्सीडेंट गुण होते हैं जो दांत दर्द के इलाज में कारगर है।

  4. अजवाईन (Carom seeds) - यह दांत दर्द के लिए एक अच्छी जड़ी बूटी है क्योंकि इसमें एंटी-माइक्रोबियल गुण होते हैं।

  5. इलायची (Cardamom) - यह उन बैक्टीरिया से लड़ने में प्रभावी है जो दंत क्षय का कारण बनते हैं।

अल्फा-32 (Alpha-32) के लाभ, आयुर्वेदिक दन्त मंजन:

  1. यह दंत क्षय या गुहा, पट्टिका, बैक्टीरिया, सांसों की बदबू, दांतों की सड़न आदि से बचाव करता है।

  2. नियमित उपयोग करने पर यह प्लाक का निर्माण, ओरल बैक्टीरिया, सांसों की बदबू, कैविटी, दांतों की सड़न या संक्रमण को कम करता है।

  3. यह समय-समय पर होने वाली मसूड़ों की बीमारियों, मसूड़े की सूजन आदि को रोकता है।

  4. लंबे समय तक चलने वाली ताजगी देता है, जीभ को साफ करता है और मुँह में सुखद एहसास होता है।

  5. यह स्वस्थ मसूड़ों के लिए एक आयुर्वेदिक दवा है, जिसका अर्थ है कि यह मसूड़ों को मजबूत बनाता है और मसूड़ों में रक्तस्राव को रोकता है।

  6. यह मुंह के छालों या घावों को रोकता है।

  7. यह सांसों की बदबू को दूर करता है और मुँह को तरोताजा रखता है, खासकर प्याज, लहसुन आदि जैसे तीखे और मजबूत स्वाद वाले खाद्य पदार्थ खाने के बाद।

  8. यह एक आयुर्वेदिक दांतों को सफेद करने वाला हर्बल पाउडर है जो दंतवल्क और दांतों को मजबूत करके दांतों को प्राकृतिक रूप से सफ़ेद रखता है, दांतों को पीला नहीं होने देता है और किसी भी प्रकार की बदबू को रोकता है।

  9. यह प्रभावी है जब एक दिन में दो बार उपयोग किया जाता है।

  10. इसका उपयोग विशेष रूप से दाँतों में सेंसिटिविटी महसूस करने वाले लोगों को करना चाहिए, क्यूंकि सेंसिटिव दाँतों को मजबूत बनाने में मदद करता है। इसलिए, अगली बार जब आप गर्म या ठंडा कुछ भी पीते हैं या खाते हैं, तो आप भोजन का आनंद ले सकते हैं और कोई दर्द महसूस नहीं करें।

  11. यह फ्लोराइड-मुक्त, ट्राईक्लोसन-मुक्त और (सोडियम लॉरिल सल्फेट) SLS मुक्त है और उपयोग करने के लिए सुरक्षित है।

उपयोग की विधि:

तरल रूप में ये दुनियाँ का पहला दन्त रक्षक है। जिस प्रकार वर्तमान में आप जो भी टूथ पेस्ट प्रयोग कर रहे हैं वही टूथ पेस्ट; वैसे ही और उतना ही, टूथ ब्रश पर लगा लें। उसके बाद अल्फा बत्तीसी (Alpha-32) की सिर्फ एक बूँद डाल लें। कुछ दिनों के पश्चात टूथ पेस्ट की मात्रा कम करते जाएँ और एक की जगह दो या तीन बूँदें अल्फा बत्तीसी (Alpha-32) की डालें। दाँतों पर ब्रश करने के पहले कुल्ला करके मुँह अन्दर से अच्छा गिला कर लें। धीरे–धीरे और सिर्फ 30 से 45 सेकंड तक ही ब्रश करें। उसके बाद चार – पाँच बार कुल्ला करें। मुँह में किसी भी प्रकार की झनझनाहट ना रहने दें। अपने दाँतों को लम्बे समय तक मज़बूत और सुरक्षित रखने के लिए सुबह और शाम दोनों समय अल्फा बत्तीसी (Alpha-32) का प्रयोग करें।

अल्फा-32 (Alpha-32) आपके दंत चिकित्सा और मुँह की देखभाल के लिए प्रकृति का एक उपहार है। इसका उपयोग करना आसान है और इसे आप मौजूदा टूथपेस्ट के साथ या या उसके बिना उपयोग कर सकते है। यह उत्पाद अल्फा आरोग्य वेबसाइट और अमेज़न शॉपिंग पोर्टल पर ऑनलाइन खरीदने के लिए उपलब्ध है। आपका अनुभव बहुत अच्छा होगा, क्योंकि आप अपने मुँह में ताजगी महसूस करेंगे और मजबूत दांत रखने में भी मदद करेंगे।

Top Reviews


Reviews Not Found
gbs company