नींद की समस्या और अनिद्रा के लिए वैकल्पिक आयुर्वेदिक उपचार

जिन लोगों को नींद न आने की समस्या है या खर्राटे या स्लीप एपनिया (sleep apnea) से पीड़ित हैं, वे अपने स्वास्थ्य को खतरे में डाल रहे हैं। शहरी क्षेत्रों में इस तरह के नींद संबंधी विकार प्रमुख पाए जाते हैं। अमेरिका में हुए एक अध्ययन के अनुसार, लगभग 75 मिलियन वयस्क कम से कम एक प्रकार के स्लीप डिसऑर्डर से पीड़ित हैं। कई बार अच्छी नींद लेने के लिए, व्यक्ति नींद की दवाओं का भी सेवन कर सकता है, जैसे कि नींद की गोलियां लेना। इसलिए, गहरी नींद के लिए आयुर्वेदिक दवा का सेवन करना एक बेहतर विकल्प है, जो उपयोग करने के लिए प्रभावी और सुरक्षित साबित हुआ है।

नींद की समस्या और अनिद्रा के लिए वैकल्पिक आयुर्वेदिक उपचार

अच्छी नींद आपके शरीर को पूरे दिन अच्छी तरह से काम करने में मदद करती है, यह किसी भी क्षतिग्रस्त कोशिकाओं को ठीक करने में भी मदद करती है। अमेरिकन स्लीप एसोसिएशन के अनुसार, वयस्कों को हर दिन 7-8 घंटे की नींद की आवश्यकता होती है, जबकि किशोरों को 8-10 घंटे के बीच की आवश्यकता होती है। इसलिए, नींद हर आयु वर्ग के लिए महत्वपूर्ण है। हालांकि, कभी-कभी बहुत सारे कारणों से नींद न आने की बीमारी (अनिद्रा) का सामना करना पड़ सकता है:

नींद विकार के कारण:

  1. बहुत अधिक तनाव: जब आपके पास तनावपूर्ण नौकरी होती है और आपके दिमाग में बहुत कुछ होता है, तो बहुत संभव है कि आप रात में 3-4 घंटे से ज्यादा नहीं सो पाते हैं।
  2. पर्याप्त नींद न लेना: कम नींद लेने से मोटापे जैसी कई स्वास्थ्य समस्याएं भी हो जाती हैं। अमेरिका में लगभग 3% -5% आबादी सिर्फ इसलिए मोटापे से जूझ रहे है क्योंकि वे औसतन घंटों तक नहीं सोते हैं।
  3. खर्राटे लेना: अगर आपका कोई साथी या परिवार का कोई सदस्य है जो खर्राटे लेता है, तो सो जाना बहुत मुश्किल है। अमेरिका की लगभग 50% आबादी ने खर्राटों की साम्स्य से पीड़ित हैं, जो कि आबादी का आधा हिस्सा है।
  4. दिन के दौरान सोना: कई लोगों को दिन में सोने की आदत भी होती है, लेकिन इससे उन्हें रात में लंबे समय तक नींद नहीं आती है।
    स्लीप हॉर्मोन मेलाटोनिन नींद में कमी करने में मदद करता है, लेकिन दिन के दौरान झपकी लेना आयुर्वेद के अनुसार अच्छा नहीं है, खासकर सर्दियां या बरसात के मौसम के दौरान, क्योंकि यह कफ को बढ़ाता है, जिसका अर्थ है कि आपका शरीर दिन के दौरान हाइड्रेशन बनाता है और आपको जागते वक़्त सरगी का अवुभाव हो सकता हैं। जबकि, आप गर्मियों में दिन के दौरान सो सकते हैं जो आपके पर्याप्त हाइड्रेशन देता हैं।
  5. उपयुक्त नींद की स्थिति न मिलना: जब आपको कही ऐसी जगह सोन पड़ता है, जहां उचित नींद की स्थिति नहीं होती हैं, तो आप अच्छी और गहरी नींद नहीं ले पाते हैं।
  6. हैवी डिनर: रात में भारी डिनर लेने से आपके शरीर को खाना पचने में समय लग सकता है और इससे नींद खराब हो सकती है। एसिडिटी का अनुभव भी हो सकता है और आप अच्छी तरह से सो नहीं पाते हैं।
  7. मच्छर का खतरा: यदि आपके कमरे में एक भी मच्छर है, तो आपकी नींद कमरे से बाहर जाना निश्चित है। यह महत्वपूर्ण है कि आप मच्छर भगाने के लिए आयुर्वेदिक दवा का उपयोग करके तुरंत मच्छरों से छुटकारा पाएं। एक मच्छर से बचाने वाली क्रीम मच्छरों से छुटकारा दिलाएगी और आपको डेंगू या मलेरिया से बचाएगी और यहाँ तक कि आपको गहरी नींद भी देगी।

जब आपको नींद की कमी होती है, तो आपके मस्तिष्क और हृदय को आपके शरीर के लिए आवश्यक ऑक्सीजन या रक्त नहीं मिलता है, जिससे कई स्वास्थ्य समस्याएं हो सकती हैं जैसे मोटापा, एकाग्रता में कमी, सिरदर्द, प्रतिरक्षा में कमी, उच्च रक्तचाप, दिल का दौरा आदि। आपकी आँखों और त्वचा को स्वस्थ होने के लिए पर्याप्त नींद की आवश्यकता होती है, और जब आप अच्छी तरह से नहीं सोते हैं तो आप अपनी आँखों को बहुत अधिक तनाव में डाल सकते हैं और आपकी त्वचा भी जल्दी बूढी हो जाएगी। कुल मिलाकर, आपका स्वस्थ्य प्रभावित हो सकता है और अंतर्निहित समस्याएं पैदा हो सकती हैं।

नींद की समस्या के लिए सबसे अच्छे ऑनलाइन आयुर्वेदिक मेडिसिन और उत्पाद कौन-से हैं?

  1. गहरी नींद के लिए: जब आप खर्राटोंके लिए आयुर्वेदिक दवा, अल्फा-KRT (Alpha-KRT) लेते हैं, तो दवा किसी भी रुकावट से आपके नाक के मार्ग को साफ कर देगी और आपको अच्छी नींद लेने में मदद करेगी।
  2. अनिद्रा को नियंत्रित करने: अल्फा K2, सबसे अच्छी अनिद्रा के लिए आयुर्वेदिक दवा है, क्योंकि यह बिना किसी रुकावट के सो जाने में मदद करती है। इसमें भृंगराज और लैवेंडर, वेनिला, चंदन जैसे आवश्यक तेल हैं जो नींद में गिरने में सहायता करते हैं।
  3. स्लीप एपनिया: जब आप स्लीप एपनिया से पीड़ित होते हैं, तो अल्फा K2, गहरी नींद की के लिए सबसे असरकारक आयुर्वेदिक दवा है। यह आपके मस्तिष्क को आराम देता है और आपके मस्तिष्क की कोशिकाओं को शांत करता है और धीरे-धीरे आपको स्वाभाविक रूप से सोने में मदद करता है और आपकी सांस लेना भी सामान्य है। यह आपके मस्तिष्क को इष्टतम ऑक्सीजन प्राप्त करने में मदद करता है और नियमित उपयोग के बाद स्लीप एपनिया को रोकता है।

अच्छी नींद लेने के उपाय:

  1. सुनिश्चित करें कि आपके कमरे में सोने के लिए उपयुक्त परिस्थितियाँ हैं, जैसे सही प्रकाश व्यवस्था और सही तापमान।
  2. यह महत्वपूर्ण है कि आप सो जाने के लिए अनावश्यक बिना पर्ची की दवाओं का सेवन न करें, इसके बजाय अल्फा K2 का उपयोग करें ताकि धीरे से आपको सो जाने में मदद मिल सके। इस तेल को मंदिरों पर हलके हाथों से मालिश करें, यह आपके मन को आराम देगी और आप कुछ ही समय में सो जाते हैं।
  3. सोने से पहले भारी खाना खाने से बचें, क्योंकि इससे आपकी नींद में बाधा आ सकती है।
  4. सोने से कम से कम 3-4 घंटे पहले कॉफी या चाय पीने से बचें।
  5. बादाम के साथ एक गर्म दूध पीने से भी आपको सोने में मदद मिलेगी।
  6. धीरे से अपने पैरों पर दबाव बिंदु की मालिश करने से मेलाटोनिन हार्मोन भी कम हो जाएगा।
  7. अपने बेडरूम से सभी गैजेट्स को दूर रखना ज़रूरी है, जैसे टीवी, मोबाइल, लैपटॉप आदि क्योंकि इनसे निकलने वाला रेडिएशन आपकी नींद को भी प्रभावित कर सकता है।
  8. अपने सिर को दक्षिण की ओर रखना वास्तु शास्त्र के अनुसार सोने का सबसे अच्छा तरीका है।
  9. अपने बिस्तर के विपरीत तरफ से किसी भी दर्पण या किसी भी अवरोध को हटा दें, इससे आपके सोते समय आपके आसपास सकारात्मक ऊर्जा के प्रवाह में बाधा होगी।
  10. सुनिश्चित करें कि आपका कमरा हवादार है, लेकिन सोने से पहले, सभी दरवाजों और खिड़कियों को बंद करना अच्छा है, क्योंकि यह बाहर की आवाज़ को आपकी नींद में खलल नहीं डालेगा।
  11. यह महत्वपूर्ण है कि आप खाना खाने के कम से कम 2 घंटे बाद बिस्तर पर जाएं, ताकि उस समय के भीतर आपका भोजन पच जाए और सोते समय आपका शरीर नई ऊर्जा बनाने के लिए तैयार हो।

इसलिए, यदि आपको ऊपर वर्णित नींद की कोई भी बीमारी हो रही है, तो कृपया तुरंत अल्फा K2 और अल्फा-KRT का उपयोग शुरू करें और कुछ हफ्तों में अच्छे परिणाम देखें।

आयुर्वेदिक औषधि एवं उत्पादकंपनी अल्फा आरोग्य द्वारा कई और आयुर्वेदिक उत्पाद हैं, जो आपको स्वस्थ और खुशहाल जीवन जीने में मदद करते हैं। अधिक जानकारी के लिए, यहां से संपर्क करें

Author Alpha Arogya

Alpha Arogya is a pioneer in making valuable ancient herbs available in the form of online Ayurvedic medicines. Alpha Arogya aims to enhance the natural and holistic self-healing process of your physical and mental being. We pride in carefully preparing natural medicines and source hard to find herbs and medicinal plants from remote forests and mountains of India. These herbs and medicinal plants can be used as effective Ayurvedic home remedies and are safe to use by anyone.

View Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *